https://www.rakeshmgs.in/search/label/Template
https://www.rakeshmgs.in

Hindi Notes

RakeshMgs

Types of protocols in Hindi प्रोटोकॉल के प्रकार हिंदी में

मंगलवार, अप्रैल 09, 2019

प्रोटोकॉल के प्रकार (Types of Protocol)

हेलो दोस्तों आज मैं आप लोगों को प्रोटोकॉल्स के बारे में बताने वाला हूं इसमें आपको यहां पर 7 प्रोटोकॉल्स के बारे में बताया जा रहा है जिसे आप लास्ट तक पढ़े और उसको समझने की कोशिश करें और यदि अच्छा लगे तो इसे शेयर भी करें। 
 protocols
  • FTP : File Transfer Protocol
  • HTTP : Hyper text Transfer Protocol
  • IP : Internet Protocol
  • MIME : Multipurpose Internet Mail Extension
  • POP :  Post Office Protocol
  • SMTP :  Simple Mail Transfer Protocol
  • UUCP : Unix To Unix Copy Protocol

  1. File Transfer Protocol (FTP) यह प्रोटोकॉल डाटा को एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर में कॉपी करने के लिये प्रयोग किया जाता हैं। इससे हम कंप्यूटर में रखे फाइल्स, फोल्डर को देख सकते है।FTP  दो कनेक्शन के साथ कार्य है यह TCP प्रोटोकॉल के मदद से संभव होता है। पहला Connection क्लाइंट तथा सर्वर के बीच में कमांड तथा उसका रेस्पॉन्स देने के लिये किया जाता हैं और दूसरा Connection डाटा को ट्रांसफर करने हेतु प्रयोग किया जाता हैं FTP प्रोटोकॉल बाइनरी तथा टेक्स्ट फाइल्स को आदान-प्रदान करता हैं।
  2. Hypertext Transfer Protocol (HTTP) यह इन्टरनेट में प्रयोग होने वाला सबसे महत्वपूर्ण प्रोटोकॉल हैं यह एक एप्लीकेशन प्रोटोकॉल हैं जिसका प्रयोग Web Browser की एड्रेस बार में WWW के पहले किया जाता हैं यह प्रोटोकॉल यूज़र द्वारा Address bar में डाले जाने वाले वेबसाइट के एड्रेस तक पहुचाने का कार्य करता हैं। 
  3. IP इंटरनेट की मदद से प्रयोग किया जाने वाला कम्युनिकेशन प्रोटोकॉल IP है यह प्रोटोकॉल दो भाग में होता है (1) TCP- (Transmission Control Protocol) इसका प्रयोग इंटरनेट पर डाटा ट्रांसफर करने के साथ फाइल और SMS भेजने के लिए किया जाता है। (2) IP- (Internet Protocol) यह प्रोटोकॉल सबसे महत्वपूर्ण होता है जोकि सभी कंप्यूटर लैपटॉप पर्सनल कंप्यूटर और मोबाइल में मौजूद होता है यह यूजर प्राप्तकर्ता के एड्रेस के अनुसार कार्य करता है जिसमें सभी का अलग अलग आईपी एड्रेस होता है जो लगभग 10 अंकों का होता है इंटरनेट से जुड़े हुए प्रत्येक कंप्यूटर में प्रयोग किया जाता है और यह दो कंप्यूटरों को आपस में जोड़ने के लिए भी प्रयोग किया जाता है। 
  4. MIME (Multipurpose Internet Mail ExtensionsMIME 1991 में नेथन बोरस्टीन के द्वारा बनाया गया था आज इसकी मदद से ही Internet यूज़र किसी E-mail में साधरण Text के बजाय फ़ॉर्मेट Text व photo आदि send कर सकते है। Mime Protocol प्रेषक Computer से ईमेल संदेश तथा उससे जुडी File जिसमे Text , Picture, Audio, video आदि को प्राप्त करके उसे कोडित करता है फिर उसे प्राप्ता कर्ता के Computer तक पहूॅचाकर पुनः कोडित कर देता है। 
  5. POP (Post Office Protocolइस प्रोटोकॉल का प्रयोग E-Mail को प्राप्त करने तथा अघतन (Update) करने में किया जाता हैं। इस प्रोटोकॉल के द्वारा Client, Server से E-Mail प्राप्‍त करता हैं। और हाँ यह हमेशा क्लाइंट सर्वर के मोडल पर निर्धारित होता है। 
  6. SMTP (Simple Mail Transfer Protocolयह प्रोटोकॉल दो सिस्टम के बीच ई-मेल को इम्पोर्ट तथा एक्सपोर्ट करने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह प्रोटोकॉल TCP Connection का प्रयोग करते हुये दो सिस्टम के बीच में mail का आदान-प्रदान करता हैं। 
  7. Unix to Unix Protocol (U.U.C.P.) यह एक यूनिक्‍स प्रोग्राम (Utility) है जो यूनिक्‍स के सिस्‍टम के मध्‍य संचार को व्‍यवस्थित करता हैं। दो यूनिक्स कंप्यूटर के मध्य डाटा Transfer करने के लिए UUCP प्रोटोकॉल का प्रयोग किया जाता हैं UUCP अपने संस्‍करण Honey Bar UUCP तथा Taylor UUCP के नाम से जाना जाता हैं। यह प्रोटोकॉल दो होस्‍ट के मध्‍य फाइल ट्रांसफर करता हैं। यह प्रोटोकॉल ई-मेल तथा यूजनेट ग्रुप के लिए संचार प्रोटोकॉल प्रदान करता हैं।यह प्रोटोकॉल संचार डिवाइसेज का नियंत्रण करता हैं।यू.यू.सी.पी. पैकेज के व्‍यवस्‍था के लिए यूटिलिटिज (Utilities) का एक संकलन प्रदान करता हैं।