https://www.rakeshmgs.in/search/label/Template
https://www.rakeshmgs.in

Learn in Hindi

RakeshMgs

Hindi Notes about the use of Instrument and its functions in ITI Engineering Drawing आईटीआई इंजीनियरिंग ड्राइंग में उपकरण का उपयोग और इसके कार्यों के बारे में हिंदी नोट्स

सोमवार, जुलाई 08, 2019
इंजीनियरिंग ड्राइंग में इंजीनियरिंग से संबंधित वस्तुएं जैसे घर दीवाल बिजली कनेक्शन की फिटिंग पाइप मशीन आदि को अपने ड्राइंग पेपर पर दर्शाया जाता है।
इस वर्तमान पीढ़ी में कंप्यूटर के नए-नए सॉफ्टवेयर आ गए है जो कुछ मिनटों में ड्राइंग तैयार कर सकती है। लेकिन अभी भी कुछ छोटे निर्माण हेतु पेपर पर ड्राइंग बनाकर कार्य किये जा रहे है।

इंजीनियरिंग ड्राइंग का महत्व Importance of Engineering Drawing


Hindi Notes about the use of Instrument

इंजीनियरिंग ड्राइंग किसी भी निर्माण कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो कि एक ड्राइंग के माध्यम से कार्य किया जाता है इसके लिए किसी भी भाषा की आवश्यकता नहीं होती है उसे कोई भी पढ़ सकता है ड्राइंग के माध्यम से कल्पना करके कुछ नया भी बनाया जा सकते हैं। ड्राइंग का प्रयोग करके किसी भी निर्माण से पहले पूरी तरह सोचने समझने के बाद ही कार्य को शुरू किया जाता है।

इंजीनियरिंग ड्राइंग में प्रयोग होने वाले उपकरण 



इंजीनियरिंग ड्राइंग में उपयोग किये जाने वाले उपकरण निम्नलिखित है-
1.  ड्राइंग शीट (Drawing Sheet) ड्राइंग शीट एक सफेद कागज है जिस पर ड्राइंग की जाती है अर्थात चित्र बनाया जाता है। इंजीनियरिंग ड्राइंग के लिए प्रयोग में ली जाने वाली शीट बेहतर क्वालिटी की होनी चाहिए यह सामान्यतः मोटाई के साथ सफ़ेद होता है। ड्राइंग शीट का आकार नीचे दिए गए टेबल में दर्शाया गया है। 

S.No. Sheet Designation Trimmed Size (mm) Untrimmed Size (mm)
1 A0 841 X 1189 880 X 1230
2 A1 594 X 841 625 X 880
3 A2 420 X 594 450 X 625
4 A3 297 X 420 330 X 450
5 A4 210 X 297 240 X 330
6 A5 174 X 210 165 X 240


ड्राइंग बोर्ड 




S.No. Types Length X Width Thickness (mm)
1 D0 1500 X 1000 25
2 D1 1000 X 700 25
3 D2 700 X 500 15
4 D2 500 X 350 15



Mini Drafter 


Mini Drafter इंजीनियरिंग ड्राइंग के कार्य में आजकल मिनी ड्रॉफ्टर का उपयोग ज्यादा किया जाता है इसका मुख्य कारण इसमें T-Square, Set Square, चांदा एवं स्केल का समायोजन होना है मिनी ड्रॉफ्टर दो भुजाओं का बना होता है जो आगे पीछे चलती है मिनी ड्राफ्टर में स्केल भी set किया होता है। Protector लोहे की गोल Plate के ऊपर लगा होता है जिसे किसी भी Angle पर Mini Drafter की Scale को Set कर सकते है।


मिनी ड्राफ्टर तीन प्रकार का होता है।
  1. Horizontal Mini Drafter
  2. Vertical Mini Drafter
  3. Universal Mini Drafter
यह लगभग टी-स्क्वायर, सेट स्क्वायर, स्केल, और प्रोटेक्टर के कार्य को अकेले पूरा करता है। 


T Square

T Square
टी आकार की संशोधित लकड़ी प्लास्टिक या सेल्यूलाइड का बना होता है तथा T आकार में होता है। जिसकी मदद से हम ड्राइंग शीट पर क्षैतिज (Horizontal) ऊर्ध्वाधर (खड़ा) (Vertical) रेखाएं खींचने के लिए प्रयोग करते है। 
क्षैतिज वाला हिस्सा को सिर कहते है तथा खड़ी भाग को ब्लेड कहते है। सिर वाला हिस्सा दोनों तरफ से बराबर होता है। 


Compass 


Compass

कम्पास का प्रयोग किसी भी ड्राइंग में वृत्त बनाने के लिए प्रयोग करते है साथ ही इससे चाप भी काटे जाते है। जो आपने 10th क्लास में पढ़ा होगा। यह स्टील से बना होता है इसमें दो पैर होते है जिसमे एक तरफ सुई की तरह होता है तथा दूसरे तरफ पेंसिल लगाने के लिए अंगूठी की समान बना होता है जिसमे हम पेंसिल को लगते है। 

उपयोग- सुई वाली नोक को बिंदु पर रखा जाता है और पेंसिल की नोक को हमेशा सुई की नोक से 1 मिमी ऊँचा रखा जाता है। 








Divider 



Divider डिवाइडर भी बिल्कुल कम्पास की तरह दीखता है। क्योकि इसमें भी सुई होती है लेकिन दोनों तरफ पेंसिल वाले भाग की तरफ भी। इसका कार्य है वक्र या रेखा को समान भागो में विभाजित करने के लिए प्रयोग किया जाता है साथ ही हम मापों की जांच करने के लिए भी प्रयोग कर सकते है। 







Set Square 


Set Square
सेट स्क्वायर का उपयोग उनके बीच के कोण की रेखाएं खींचने के लिए किया जाता है। अधिकतर 30, 45, 60 और 90-डिग्री लाइनें सबसे ज्यादा खींची जाती है। सेट स्क्वायर से ऐसे चित्र बनाने में हमारे समय को बचाता है। 
आम तौर पर सेट स्क्वायर दो प्रकार के होते हैं। एक 45 डिग्री सेट स्क्वायर है और दूसरे को 30 - 60 डिग्री सेट स्क्वायर कहा जाता है। ड्राइंग में दोनों की आवश्यकता होती है। 

Protractor  


Protractor
ड्राइंग में रेखाओं के कोणों को खींचने और मापने के लिए प्रोट्रैक्टर का उपयोग किया जाता है। यह पारदर्शी (transparent) प्लास्टिक से बना है। यह सेमी-सर्कल के आकार में होता है।  
नीचे की रेखा 0o से 180o  में मिलती है । इस नीचे की रेखा के केंद्र को "O" या "C" के रूप में चिह्नित किया जाता है, जहाँ से कोणों को मापा जाता है।

French Curves 


French Curves

फ्रेंच कर्व्स प्लास्टिक का बना होता है। और वे अनियमित (irregular) आकार में होते हैं। कभी-कभी ड्राइंग में अनियमित आकृतियों या आर्क की आवश्यकता होती है जिसे कम्पास (प्रकार) का उपयोग करके तैयार नहीं किया जा सकता है। उस मामले में फ्रेंच कर्व्स उपयुक्त है तथा आमतौर पर फ्रेंच कर्व छोटे कर्व्स के लिए ज्यादा उपयोगी होते हैं।

Drawing Templates 


Drawing Templates

ड्राइंग टेम्पलेट्स लकड़ी या प्लास्टिक का बना होता है। इसमें विविध प्रकार के आकृति तथा शेप  बनाने के लिए ड्राइंग टेम्पलेट  प्रयोग करते है जो ड्राइंग को आसान तथा परिपूर्ण बनाता है। 

Pencil 

Pencil
पेंसिल का प्रयोग किसी भी कागज या ड्राइंग शीट पर लाइन खींचने के लिए प्रयोग किया जाता है। इंजीनियरिंग ड्राइंग में हम किसी भी प्रकार का पेंसिल प्रयोग नहीं कर सकते है इसलिए भी कुछ सीमाएं है जिसे आपको अच्छे से समझना जरुरी है। इसमें ग्रेड होती है जो निचे टेबल में दी गई है। 

S. No. Grade of Pencil Hardness of Pencil
1 9H Hardest
2 6H, 5H, 4H Extremely Hard
3 3H Very hard
4 2H Hard
5 H Moderately hard
6 F Firm
7 HB Medium hard
8 B Moderately soft and black
9 2B Soft and black
10 3B Very soft and black
11 4B, 5B, 6B Very soft and very black
12 7B Softest


इंजीनियरिंग ड्राइंग में निम्नलिखित ग्रेड का पेंसिल प्रयोग किया जाता है।

S. No. Grade of Pencil Hardness of Pencil
1 3H Construction lines
2 2H Dimension lines, center lines, sectional lines, hidden lines
3 H Object lines, lettering
4 HB Dimensioning, boundary lines


Eraser 


जैसा की आप लोग जानते है रबर का प्रयोग किसी गैर लाइन तथा दाग धब्बो को मिटाने  के लिए प्रयोग करते है। इरेज़र हमेशा अच्छी गुणवत्ता और नरम होना चाहिए नहीं तो इरेज़ करते समय पेपर को हानि पहुँच सकती है।

Paper Holder 



पेपर होल्डर का प्रयोग पेपर को एक स्थान पर स्थाई रखने के लिए प्रयोग करते है। यदि आप ड्राइंग शीट को बिना पेपर होल्डर के रखेंगे तो निश्चित ही आपका शीट इधर उधर हिलेगा। पेपर होल्डर में पिन, स्प्रिंग,क्लिप, अथवा स्टिक हो सकती है। पेपर को हमेशा ध्यान पूर्वक निकालनी चाहिए अन्यथा पेपर फट भी सकती है।
Hindi Notes about the use of Instrument and its functions in ITI Engineering Drawing आईटीआई इंजीनियरिंग ड्राइंग में उपकरण का उपयोग और इसके कार्यों के बारे में हिंदी नोट्स
तो दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये