https://www.rakeshmgs.in/search/label/Template
https://www.rakeshmgs.in

Hindi Notes

RakeshMgs

Working on Windows in Hindi For CCC Exams विंडोज पर काम करना सीसीसी एग्जाम के लिए हिन्दी में

बुधवार, अगस्त 21, 2019

विंडो

जब भी आप कोई प्रोग्राम, फ़ाइल या फ़ोल्डर खोलते हैं, तो वह आपके स्क्रीन पर एक बॉक्स या फ़्रेम में नज़र आते हैं, जिन्हें विंडो कहते हैं। विंडो किसी स्क्रीन पर एक आयताकार खंड होता है जिसका उपयोग सूचना और अन्य प्रोग्राम प्रदर्शित करने के लिये होता है। आपके द्वारा खोला गया प्रत्येक प्रोग्राम अपनी विंडो में खुलता है। विंडो के भागों के बारे में ज्ञान बहुत आवश्यक है। इससे विंडोज़ पर काम करना अत्यधिक आसान, अधिक सुखद और कम निराशाजनक हो जाता है।

विंडो के भाग

यद्यपि प्रत्येक विंडो की सामग्री अलग-अलग होती है, लेकिन सभी विंडोज़ में कुछ चीज़ें एक सामान होती हैं।एक चीज़ के लिये, विंडोज़ हमेशा डेस्कटॉप पर नज़र आती है, जो आपकी स्क्रीन पर काम करने का मुख्य क्षेत्र है। इसके अतिरिक्त, अधिकांश विंडोज़ में एक सामान ही मूल अंग होते हैं-

मेन्यू बार
टायटिल बार
मिनिमाईज़ बटन
मैक्सीमाइज़ बटन
क्लोज़ बटन
स्क्रोल बार
बॉर्डर

ऐक्टिव विंडो

यह विंडो अन्य सभी विंडो की तुलना में विशिष्ट होती है, क्योंकि इसपर आप काम कर सकते हैं। यह स्क्रीन पर सबसे ऊपर नज़र आने वाली विंडो है और माउस एवं कीबोर्ड से इनपुट स्वीकार करता है। यदि एक से अधिक विंडो खुली हो, तो ऐक्टिव विंडो (वह विंडो जिसपर आप अभी काम कर रहे हैं) के टायटिल बार का रंग या सघनता अन्य टायटिल बार से अलग होती है। टायटिल बार के रंग में अंतर होने से आप ऐक्टिव विंडो को शेष सभी विंडोज़ से अलग पहचान सकते हैं।

मेन्यू बार

मेन्यू बार में उपलब्ध मेन्यू शामिल होते हैं, जिनसे आप कमांड चुनते हैं। मेन्यू बार पर स्थित किसी भी विकल्प पर क्लिक करने पर उससे संबंधित एक पुल-डाउन मेन्यू प्रदर्शित होगा।

टायटिल बार

टायटिल बार प्रत्येक विंडो के शीर्ष पर स्थित होता है। विंडो के इस भाग में एप्लीकेशन, डॉक्यूमेंट, ग्रुप, डायरेक्टरी, या फ़ाइल प्रदर्शित होते हैं।

मैक्सीमाइज़ – मिनिमाईज़ - क्लोज़ बटन

टायटिल बार पर सबसे दाहिनी ओर स्थित लाल रंग का क्लोज़ बटन, जिस पर X बना है, उसपर क्लिक करने पर आपकी विंडो या प्रोग्राम बंद होते हैं। बाँयी ओर स्थित, एक छोटे से अंडरलाइन कैरेक्टर के सामान नज़र आने वाला मिनिमाईज़ बटन विंडो को मिनिमाईज़ करता है। इसका अर्थ यह है, कि जब आप इसपर क्लिक करते हैं, तो विंडो आपके डेस्कटॉप से गायब हो जाती है, और आपकी स्क्रीन में सबसे नीचे की ओर टास्कबार पर केवल एक बटन के रूप में नज़र आती है। जब आप टास्कबार पर स्थित इस बटन पर क्लिक करते हैं, तो यह विंडो पुनः पूर्व-स्थिति में आ जाती है। बीच के बटन को मैक्सीमाइज़ बटन कहते हैं। जब किसी विंडो को मैक्सिमाइज़ करते हैं, तो वह आपके पूरे मॉनीटर की स्क्रीन में फ़ैल जाती है।

रीस्टोर बटन

जब आप किसी विंडो को बड़ी कर देते हैं, तो यह बटन मैक्सीमाइज़ बटन के स्थान पर नज़र आता है। रीस्टोर बटन विंडो को उसके पिछले आकार में वापस लाता है।

स्क्रोल बार 

जब कोई डॉक्यूमेंट या सूची किसी विंडो या दिए गए स्थान में समाता नहीं है, तो स्क्रोल बार आपको उस डॉक्यूमेंट या सूची पर मूव करने में सहायता करता है। ये स्क्रीन के दाहिनी ओर नज़र आ सकते हैं, अर्थात् वर्टिकल (ऊर्ध्व) स्क्रोलबार, अथवा नीचे की ओर नज़र आते हैं, अर्थात् हॉरिज़ॉन्टल (क्षैतिज) स्क्रोलबार। किसी डॉक्यूमेंट में ऊपर या नीचे की ओर जाने के लिये, ‘अप’ या ‘डाउन’ स्क्रोल ऐरो पर क्लिक करें। इसी प्रकार, क्षैतिज रूप से गति करने के लिये दाहिने और बाँए स्क्रोल ऐरो का उपयोग करें। ऐरो के बीच में, एक खिसकने वाली वस्तु होती है, जिसे थम्ब कहते हैं। आप इस पर क्लिक कर सकते हैं, और ड्रैग करके डॉक्यूमेंट पर जा सकते हैं।

विंडो बॉर्डर 

विंडो बॉर्डर किसी विंडो का बाहरी किनारा है। आप इन बॉर्डर को लंबा या छोटा करके विंडो के आकार को बदल सकते हैं।

वर्क स्पेस 

मेन्यू बार के नीचे स्थित क्षेत्र वर्क स्पेस कहलाता है।

टूलबार
इसमें विभिन्न आयकॉन और बटन होते हैं, जो एक प्रोग्राम से दूसरे को अलग कर सकते हैं। टूलबार की मदद से आप सामान्यतः उपयोग किये जाने वाले फ़ंक्शन तेज़ी से ऐक्सेस कर सकते हैं, बिना मेन्यू में इन फ़ंक्शनों को खोजे हुए।

विंडोज़ का स्थान और आकार बदलना

डेस्कटॉप को उपयोग के लिये अधिक सुविधाजनक बनाने के लिये, आप विन्डोज़ का स्थान और आकार बदल सकते हैं। टायटिल बार में स्थित बटनों की सहायता से आप किसी विंडो को मिनिमाईज़ कर सकते हैं, किसी विंडो को उसके अधिकतम आकार में मैक्सिमाइज़ कर सकते हैं, विंडो को उसके मूल आकार में रीस्टोर कर सकते हैं, अथवा उसे बंद कर सकते हैं।

मैक्सिमाइज़ एवं रीस्टोर बटन

विंडो को पूरी स्क्रीन पर फैलाने के लिए, इसके “मैक्सिमाइज़” बटन पर क्लिक करें, अथवा विंडो के टायटिल बार पर डबल-क्लिक करें। किसी मैक्सिमाइज़ की हुई विंडो को इसके पिछले आकार में वापस लाने के लिये, इसके “रीस्टोर” बटन पर क्लिक करें जो मैक्सिमाइज़ बटन के स्थान पर नज़र आता है। अथवा, आप विंडो के टायटिल बार पर डबल-क्लिक कर सकते हैं।

विंडो का आकार बदलना

किसी विंडो का आकार बदलने के लिये, विंडो के किसी बॉर्डर या किनारे पर पॉइंट करें। जब माउस का पॉइंटर दो-सिरे वाले ऐरो में बदल जाये, तो विंडो को छोटी अथवा बड़ी करने के लिये बॉर्डर या सिरों को ड्रैग करें। किसी किनारे को ड्रैग करने से ऊँचाई और चौड़ाई दोनों एक साथ बदलते हैं। मैक्सिमाइज़ की हुई विंडो का आकार बदला नहीं जा सकता। पहले इसे इसके पिछले आकार में रीस्टोर करना होगा।

विंडो का स्थान बदलना (मूव करना)

किसी विंडो का स्थान बदलने के लिये माउस के पॉइंटर से इसके टायटिल बार पर पॉइंट करें। फिर, विंडो को उस स्थान पर ड्रैग करें जहाँ आप चाहते हैं। ड्रैग करने का अर्थ है, माउस से किसी वस्तु पर पॉइंट करना, माउस के बटन को दबाना, पॉइंटर से उस वस्तु का स्थान बदलना, और फिर माउस का बटन छोड़ना ।

एईआरओ (एईआरओ)

एईआरओ का तात्पर्य है, “ऑथेंटिक (विश्वसनीय), एनर्जेटिक (फुर्तीला), रिफ़्लेक्टिव (विचारशील) और ओपन (खुला हुआ)”। एईआरओ डेस्कटॉप आपके डेस्कटॉप का प्रबंधन करने के नए उपयोगी तरीकों के साथ शानदार ग्राफ़िक्स को मिलाता है। एईआरओ की दृश्य विशिष्टता में सूक्ष्म एनीमेशन और स्पष्ट कांच की विन्डोज़ शामिल हैं, जिनका आप निजीकरण कर सकते हैं। एईआरओ में स्टाइल के अतिरिक्त भी बहुत कुछ है।

एईआरओ स्नैप

एईआरओ स्नैप खुली हुई विंडोज़ का आकार बदलने का तेज़ और नया तरीका है, जिसमें उनको बस आपकी स्क्रीन के सिरों तक ड्रैग करते हैं। आप किसी विंडो को कहाँ ड्रैग करते है, इसके आधार पर, आप इसको ऊर्ध्व रूप से फैला सकते हैं, पूरी स्क्रीन पर फैला सकते हैं, अथवा किसी अन्य विंडो के साथ बगल-बगल रख सकते हैं। स्नैप से विन्डोज़ को पढ़ना, व्यवस्थित करना, और उनके बीच तुलना करना आसान हो जाता है।

विंडोज़ को बगल-बगल व्यवस्थित करना

स्नैप का उपयोग करके विंडोज़ को बगल-बगल व्यवस्थित करने के लिये, किसी विंडो के टायटिल बार को स्क्रीन के बाँए या दाहिनी ओर तब तक ड्रैग करें, जब तक कि विस्तृत की हुई विंडो की एक आउटलाइन नज़र ना आये। अब, विंडो को विस्तृत करने के लिये माउस छोड़ें। कीबोर्ड का उपयोग करके किसी ऐक्टिव विंडो को डेस्कटॉप के किनारे पर स्नैप करने के लिये, विंडोज़ लोगो बटन + बाँए ऐरो को दबाएँ अथवा विंडोज़ लोगो बटन + दाहिने ऐरो को दबाएँ।

स्नैप का उपयोग करके किसी विंडो को मैक्सिमाइज़ करना

स्नैप का उपयोग करके किसी विंडो को मैक्सिमाइज़ करने के लिये, विंडो के टायटिल बार को स्क्रीन के शीर्ष तक ड्रैग करें। आप देख सकते हैं, कि विंडो की आउटलाइन बढ़कर पूरी स्क्रीन को ढँक लेती है। अब, पूरे डेस्कटॉप को ढंकने के लिये फैलाने के लिये विंडो को छोड़ दें।

स्नैप का उपयोग करके किसी विंडो को ऊर्ध्व रूप से फैलाना


स्नैप का उपयोग करके किसी विंडो को ऊर्ध्व रूप से फैलाने के लिये किसी खुली हुई विंडो में सबसे ऊपरी या निचले सिरे पर तब तक पॉइंट करें, जब तक पॉइंटर एक दो-मुंहे ऐरो में ण बदल जाये । अब, विंडो को डेस्कटॉप की पूरी ऊँचाई तक फैलाने के लिये विंडो के सिरे को स्क्रीन के शीर्ष या नीचे की ओर ड्रैग करें। आप देख सकते हैं कि विंडो की चौड़ाई बदलती नहीं है।

एईआरओ शेक


एईआरओ शेक की सहायता से यूज़र माउस के द्वारा अपनी पसंद की विंडो को आगे-पीछे शेक या ड्रैग करके अपनी स्क्रीन पर किसी प्रकार की अव्यवस्था को साफ़ कर सकते हैं। शेष सभी विंडोज़ मिनिमाईज़ हो जायेंगी, जबकि यूज़र ऐक्टिव स्क्रीन पर बना रहता है। जब विंडो को पुनः शेक किया जाता है, मिनिमाईज़ की हुई सभी विन्डोज़ पुनः रीस्टोर हो जाती हैं। वर्तमान में ऐक्टिव विंडो के अतिरिक्त शेष सभी विन्डोज़ को मिनिमाईज़ करने के लिये, विंडोज़ लोगो बटन + होम दबाएँ। सभी विन्डोज़ को रीस्टोर करने के लिये, विंडोज़ लोगो बटन + होम को पुनः दबाएँ।

एईआरओ पीक

एईआरओ पीक विंडोज़ 7 में प्रस्तुत किया गया नया फ़ीचर है। जैसा कि नाम से पाता चलता है, यदि आपने बहुत सारी विन्डोज़ खोली हुई हैं तो आप डेस्कटॉप में झाँक कर देख सकते हैं। इस फ़ीचर के साथ, आप जिन विन्डोज़ पर कम कर रहे हैं, उनको मिनिमाईज़ किये बिना तेज़ी से डेस्कटॉप को देख सकते हैं। यह आपको एक्स-रे नज़र की शक्ति प्रदान करता है, जिससे आप अपनी सभी खुली हुई विन्डोज़ के पीछे जाकर सीधे विंडोज़ 7 का डेस्कटॉप देख सकते हैं।

डेस्कटॉप में कैसे पीक करें (झांके)

आप बस टास्कबार के दाहिने सिरे पर स्थित शो डेस्कटॉप बटन पर पॉइंट करके डेस्कटॉप को अस्थाई रूप से देख या उसमें झाँक (पीक) सकते हैं। कोई भी खुली हुई विंडो दृष्टि से ओझल हो जाती है, जिससे विंडोज़ डेस्कटॉप सामने नज़र आता है। विंडोज़ को पुनः सामने लाने के लिये, माउस को शो डेस्कटॉप बटन से दूर ले जाएँ। कीबोर्ड शॉर्टकट विन्डोज़ बटन + स्पेसबार का उपयोग करके एईआरओ पीक को सक्रिय किया जा सकता है।

डेस्कटॉप पर किसी खुली हुई फ़ाइल पर पीक करें

जिस विंडो पर आप अभी काम कर रहे हैं, उससे बाहर जाये बिना ही आप अन्य खुली हुई विन्डोज़ को जल्दी से देखने के लिये भी पीक का उपयोग कर सकते हैं। सबसे पहले, माउस के पॉइंटर से टास्कबार पर स्थित पहले से खुली हुई फ़ाइल के प्रोग्राम बटन पर पॉइंट करें। उस प्रोग्राम से संबंधित खुली हुई फ़ाइलों का थंबनेल प्रीव्यू टास्कबार के ऊपर नज़र आता है। उस विंडो की सामग्री का पुनरावलोकन करने के लिये, आप किसी थंबनेल पर पॉइंट कर सकते हैं, और आप जिस विंडो का पुनरावलोकन (प्रीव्यू) कर रहे हैं, उसके अतिरिक्त डेस्कटॉप पर स्थित शेष सभी विंडो अदृश्य हो जाती हैं। जिस विंडो का पुनरावलोकन आप कर रहे हैं, उसे खोलने के लिये, थंबनेल पर क्लिक करें।

विंडोज़ कंट्रोल

अधिकांश विंडोज़ में “कंट्रोल” होते हैं, जो आपको कमांड सेलेक्ट करने, सेटिंग्स बदलने, अथवा विंडो से संबंधित अन्य क्रियाओं को करने में सहायता करते हैं। अब हम उनमें से कुछ पर नज़र डालें।

मेन्यू

स्क्रीन को अनावश्यक सामग्रियों से मुक्त रखने के लिये, मेन्यू तबतक प्रच्छन्न रहते हैं जब तक कि आप “मेन्यू बार” में स्थित उनकी टायटिल पर क्लिक नहीं करते। मेन्यू में सूचीबद्ध किसी कमांड को चुनने के लिये, इस पर क्लिक करें। यदि कोई कमांड ग्रे रंग में प्रदर्शित है, तो वह उपलब्ध नहीं होगा और उसपर क्लिक नहीं किया जा सकता। कुछ मेन्यू कंट्रोल किसी शब्द या तस्वीर के बगल में स्थित एक ऐरो के द्वारा प्रदर्शित होते हैं।

कमांड बटन

जब आप किसी कमांड बटन पर क्लिक करते हैं, तो वह एक क्रिया करता है। कमांड बटन बिना किसी टेक्स्ट के, छोटे आयकॉन के रूप में भी नज़र आ सकते हैं।

स्प्लिट बटन

जब आप स्प्लिट बटन पर पॉइंट करते हैं, तो वह दो भागों में परिणत हो जाता है। मुख्य भाग में क्लिक करने से एक कमांड होता है, जबकि ऐरो पर क्लिक करने से अधिक विकल्पों के साथ एक मेन्यू खुलता है।

विकल्पों (ऑप्शन) के बटन

ऑप्शन बटन आपको अनेक विकल्पों में से किसी एक का चयन करने की सुविधा देता है। वे “रेडियो बटन” भी कहलाते हैं।

चेक बॉक्स

चेक बॉक्स आपको एक या एक से अधिक स्वतंत्र विकल्प चुनने की सुविधा देता है। ऑप्शन बटन के विपरीत, जो केवल एक विकल्प चुनने की सुविधा देता है, आप विभिन्न चेक बॉक्स का उपयोग करके एक बार में अनेक विकल्प चुन सकते हैं।

स्लाइडर

स्लाइडर को अंकों की एक श्रृंखला पर ड्रैग करके आप अपनी अभीष्ट संख्या पर व्यवस्थित कर सकते हैं।

टेक्स्टबॉक्स

टेक्स्ट बॉक्स का उपयोग टेक्स्ट संबंधी सूचना टाइप करने के लिये होता है। यह सर्वाधिक उपयोग होने वाला विन्डोज़ कंट्रोल है।

ड्रॉप-डाउन सूची

ड्रॉप-डाउन सूचियां मेन्यू के समान ही होती हैं। यहाँ लागू किये जाने वाले कमांडों के स्थान पर सेलेक्ट करने के लिये विकल्प उपलब्ध होते हैं। बंद किये जाने पर, ड्रॉप-डाउन सूची केवल वर्तमान में सेलेक्ट किया गया विकल्प दिखाती है। कंट्रोल पर क्लिक करने पर अन्य विकल्प नज़र आते हैं।

लिस्टबॉक्स

लिस्ट बॉक्स में विकल्पों की एक सूची प्रदर्शित होती है, जिससे आप सेलेक्ट कर सकते हैं। ड्रॉप-डाउन सूची के विपरीत, सूची को खोले बिना कुछ या सभी विकल्प प्रदर्शित हो जाते हैं।

टैब

कुछ विंडोज़ में, सूचना विभिन्न टैब में प्रदर्शित होती है। वर्तमान में सेलेक्ट किया हुआ टैब सबसे आगे नज़र आता है। किसी अन्य टैब पर क्लिक करके आप उसपर जा सकते हैं।

स्क्रोलबार

स्क्रोलबार वह नियंत्रण है, जो ऐरो प्रदर्शित करने वाले बटन पर क्लिक करके यूज़र को डॉक्यूमेंट में दो दिशाओं में नेवीगेट करने की सुविधा देता है।

डायलॉग बॉक्स

डायलॉग बॉक्स एक विशेष प्रकार की विंडो होती है, जो आपसे कोई प्रश्न पूछती है, आपको एक विकल्प चुनने की सुविधा देती है, अथवा आपको कोई सूचना देती है। पुश बटन, ऑप्शन बटन, चेक बॉक्स, टेक्स्ट बॉक्स, लिस्ट बॉक्स, कॉम्बो-बॉक्स और ऐसे ही अन्य कंट्रोल के उपयोग से डेटा एंटर किया जा सकता है।

विंडोज़ को स्वतः व्यवस्थित करना

आप अपने डेस्कटॉप पर विंडोज़ को स्वतः व्यवस्थित कर सकते हैं। किसी व्यवस्था को चुनने के लिये, टास्क-बार पर किसी खाली स्थान पर राईट-क्लिक करें, फिर विकल्प “कास्केड विंडोज़”, “शो विंडोज़ स्टैक्ड”, अथवा “शो विंडोज़ साइड बाय साइड” विकल्पों में से किसी एक को चुनें।

आल्ट+टैब का उपयोग करके विभिन्न विन्डोज़ पर जाना

आप “आल्ट” बटन को दबाए रखकर बारबार “टैब” बटन दबाते हुए सभी खुली हुई विन्डोज़ और डेस्कटॉप पर जा सकते हैं। “आल्ट” बटन को छोड़ देने पर सेलेक्ट की हुई विंडो नज़र आती है।

विंडोज़ फ़्लिप 3 डी

विंडोज़ फ़्लिप 3डी आपकी विंडोज़ को तीन-आयामी स्टेक में व्यवस्थित करता है, जिससे आप आसानी से पलट सकते हैं। फ़्लिप 3डी का उपयोग करने के लिये -

1. फ़्लिप 3डी को खोलने के लिये विन्डोज़ लोगो के बटन को दबाये रखकर टैब बटन दबाएँ।

2. विन्डोज़ लोगो के बटन को दबाये रखते हुए, बारबार टैब दबाएँ, या माउस की व्हील को रोटेट करें (घुमायें) जिससे खुली हुई सभी विंडो क्रमशः नज़र आती हैं।

3. स्टेक में सबसे आगे स्थित विंडो को प्रदर्शित करने के लिये, विन्डोज़ लोगो के बटन को छोड़ें। अथवा, स्टेक में स्थित किसी भी विंडो के किसी भाग पर क्लिक करके उस विंडो को प्रदर्शित करें।

विंडोज़ फ़्लिप 3 डी का उपयोग करके विभिन्न विन्डोज़ पर जाना

वैकल्पिक रूप से, विन्डोज़+कंट्रोल+टैब बटनों के संयोजन का उपयोग करके फ़्लिप 3डी का उपयोग किया जा सकता है। उस स्थिति में, विभिन्न विन्डोज़ में जाने के लिये आप ऐरो बटनों का उपयोग कर सकते हैं।

तस्वीरें कॉपी करना

किसी टेक्स्ट, तस्वीरों और अन्य वस्तुओं को एक डॉक्यूमेंट से दूसरे में कॉपी करना संभव होता है। अब हम पेन्ट से किसी तस्वीर को वर्डपैड डॉक्यूमेंट में कॉपी करें। पेन्ट डॉक्यूमेंट में, ड्रॉइंग के क्षेत्र से जिस भाग को आप कॉपी करना चाहते हैं, उसे “इमेज ग्रुप - सेलेक्ट” आयकॉन का उपयोग करके सेलेक्ट करें। फिर, “क्लिपबोर्ड ग्रुप- कॉपी” आयकॉन का उपयोग करके इसे कॉपी करें। सेलेक्ट किये गए क्षेत्र की सामग्री कॉपी हो जाती है।

तस्वीरें कोई वर्ड डॉक्यूमेंट खोलें। कर्सर को उस स्थान पर ले जाएँ जहाँ आप तस्वीर को इन्सर्ट करना चाहते हैं। अब, “क्लिपबोर्ड” समूह में, “होम” टैब पर, “पेस्ट” पर क्लिक करें। तस्वीर डॉक्यूमेंट में इन्सर्ट हो जाती है। तस्वीर वाला पेन्ट का मूल डॉक्यूमेंट अपरिवर्तित रहता है। आप इसके ताक्बार बटन पर क्लिक करके इसकी पुष्टि कर सकते हैं।