https://www.rakeshmgs.in/search/label/Template
https://www.rakeshmgs.in
Advertisements
RakeshMgs

What is Client and Server Side Scripting Language in Hindi? | Difference Between Client and Server Side Scripting Language

गुरुवार, 20 जनवरी 2022

Difference Between Client and Server Side Scripting Language in Hindi

क्लाइंट-साइड स्क्रिप्टिंग एक कोड Generate करने के लिए की जाती है जो सर्वर साइड प्रोसेसिंग की जरुरत के बिना Client end (ब्राउज़र) पर चल सकता है। Basically, इस प्रकार की Script को एक HTML Document के अंदर रखा जाता है। क्लाइंट-साइड स्क्रिप्टिंग का इस्तेमाल यूजर द्वारा फॉर्म को सबमिट करने से पहले एरर के लिए और यूजर इनपुट के अनुसार भरे गए डिटेल्स को बदलने के लिए या चेक करने के लिए किया जा सकता है।

Client-side scripting languages:

  • HTML: यह वेब प्रोग्रामिंग का बेसिक बिल्डिंग ब्लॉक है जो वेबसाइट को फ्रेम प्रोवाइड करता है। यह मटेरियल के अरेंजमेंट को डिस्क्राइब करता है।
  • CSS: CSS ग्राफिक एलिमेंट को डिजाइन करने का तरीका प्रोवाइड करता है जो वेब एप्लिकेशन की उपस्थिति (presence) को और अधिक अट्रैक्टिव बनाने में मदद करता है।
  • JavaScript: यह क्लाइंट-साइड स्क्रिप्टिंग भाषा भी है जो अनिवार्य रूप से स्पेसिफिक पर्पस के लिए तैयार की गई है, लेकिन वर्तमान में सर्वर-साइड स्क्रिप्टिंग तकनीक के रूप में यूज़ किए जाने वाले डिफरेंट जावास्क्रिप्ट फ्रेमवर्क हैं।

सर्वर-साइड स्क्रिप्टिंग कोड बनाने के लिए प्रोग्रामिंग की एक तकनीक है जो सर्वर साइड पर सॉफ्टवेयर चला सकती है, सरल शब्दों में कोई भी स्क्रिप्टिंग या प्रोग्रामिंग जो वेब सर्वर पर चल सकती है उसे सर्वर-साइड स्क्रिप्टिंग के रूप में जाना जाता है। वेबसाइट एडजस्टमेंट, वेबसाइट मटेरियल में डायनामिक परिवर्तन, उपयोगकर्ता के प्रश्नों के लिए प्रतिक्रिया उत्पन्न करना, डेटाबेस तक पहुंच आदि जैसे ऑपरेशन सर्वर के अंत में किए जाते हैं।

Server-side scripting languages: कुछ सर्वर-साइड स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज को नीचे मेंशन किया गया है::

  • PHP: यह वेब पर उपयोग की जाने वाली सबसे प्रचलित सर्वर-साइड भाषा है जिसे डेटाबेस में जानकारी निकालने और हेरफेर करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। भाषा का उपयोग डेटाबेस के लिए SQL (Structured Query Language) भाषा के सहयोग से किया जाता है। इसका प्रयोग फेसबुक, वर्डप्रेस और विकिपीडिया में किया जाता है।
  • Python: पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सबसे तेज माना जाता है, और इसमें ज्यादा बड़ा कोड लिखने की जरुरत नहीं पड़ती है। यह शुरुआती लोगों यानी जो प्रोग्रामिंग को पहली बार सिखने जा रहे है उनके लिए अच्छा है क्योंकि यह कोड हाई लेवल लैंग्वेज है यहाँ हाई लेवल का मतलब यह बिलकुल नहीं है की यह कठिन है बल्कि यह पढ़ने और समझने में काफी आसान है, और सिम्पलिसिटी पर फोकस करता है। पायथन ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड एनवायरमेंट में अच्छी तरह से काम करता है और पॉपुलर साइटों जैसे Youtube, Google, आदि में प्रयोग किया जाता है।
  • Ruby: इसमें काम्प्लेक्स लॉजिक होता है जो डेटाबेस उपयोगिता (utility) के साथ बैक-एंड को पैकेज करता है जिसे PHP और SQL द्वारा भी प्रदान किया जा सकता है।

Difference Between Client and Server Side Scripting Language in English

Client-side scripting is done to generate a code that can run on the client end (browser) without the need for server side processing. Basically, this type of script is placed inside an HTML document. Client-side scripting can be used to check for errors and to change the details filled as per user input before the user submits the form.

Client-side scripting languages:

  • HTML: It is the basic building block of web programming that provides the frame to the website. It describes the arrangement of the material.
  • CSS: CSS provides a way to design graphic elements that help in making the appearance of a web application more attractive.
  • JavaScript: It is also a client-side scripting language designed essentially for a specific purpose, but there are different JavaScript frameworks currently used as a server-side scripting technology.

Server-side scripting is a technique of programming to create code that can run software on the server side, in simple words any scripting or programming that can run on a web server is known as server-side scripting. Operations like website adjustments, dynamic changes to the website material, generating responses to user queries, accessing databases, etc. are performed at the server end.

Server-side scripting languages: Some server-side scripting is mentioned below:

  • PHP: This is the most prevalent server-side language used on the web that was designed to extract and manipulate information in databases. The language is used in association with the SQL (Structured Query Language) language for databases. It is used in Facebook, WordPress and Wikipedia.
  • Python: Python programming language is considered to be the fastest, and there is no need to write huge code in it. It is good for beginners i.e. those who are going to learn programming for the first time because this code is high level language here high level does not mean at all that it is difficult but it is quite easy to read and understand, and on simplicity Focuses. Python works well in an object-oriented environment and is used in popular sites like Youtube, Google, etc.
  • Ruby: Contains complex logic that packages the back-end with a database utility that can also be provided by PHP and SQL.

Admin

Admin
आपको आर्टिकल कैसा लगा? अपनी राय अवश्य दें
Please don't Add spam links,
if you want backlinks from my blog contact me on rakeshmgs.in@gmail.com